Visitors

Web Site Hit Counter

Uploaded on 2nd September, 2011


click on photo for large picutre
बहन वेद रहेजा जी

 

 

 

गीतकार : बहन वेद रहेजा जी,
गुडगाँव, हरियाणा

 

E-mail : vedraheja@maanavta.com

Please share this page on your facebook/orkut wall

 FREE Spiritual SMSes (Only in India)  

Spiritual E-mails      INSTALL our website's Toolbar

लेगी दुनिया एक दिन सुख चैन की सांस... (भक्ति गीत)

गीतकार : बहन वेद रहेजा जी, गुडगाँव, हरियाणा

देख के मानवता की खातिर सतगुरु के प्रयास, आज बंधी है विश्व को एक सुनहरी आस
स्वर्ग धरा पे होगा अब जागा है विशवास, लेगी दुनिया एक दिन सुख चैन की सांस.....

अनेकता में एकता और भाईचारा, अमन प्रेम और शांति मेरे मिशन का नारा,
प्यार ही प्यार हो मिलवर्तन हो, कहीं न हो तकरार,
ये संसार है सारा परमेश्वर का परिवार,
अगर हर एक मानव को हो जाए इसका एहसास.....

यह होगा संभव जब एक को जानेंगे, एक को जानेंगे एक को मानेंगे,
इस प्रभु को जानेंगे हम, खुद को पहचानेंगे हम,
ब्रह्मज्ञान से ही यह बात बन सकती है, यह अनमोल सौगात आज मिल सकती है,
बंट रहा है ले लो आओ सतगुरु के पास.........

घर घर में फूटेंगे प्रभु ज्ञान के धारे, एक ही रंग में रंग जायेंगे इन्सान सारे,
नफरत का न होगा पर्दूषण, होगा निर्मल पावन मन
सतगुरु की आँखों में बसे हैं ये सपने, कुल दुनिया के बन्दे इसके हैं अपने,
इसकी नज़र में सभी बराबर, कोई आम न ख़ास.....

बारूदों के ढेर पे इन्सान न बैठे, इन्सान के दिल में कभी शैतान न बैठे
शैतान की देख के बर्बरता, होती कलंकित मानवता
इनके कोमल दिल को ठेस लग जाती है, इनका सारा चैन सकूं ले जाती है
'वेद' कभी आराम इन्हें फिर आता नहीं है रास,
लेगी दुनिया एक दिन सुख चैन की सांस...

God Bless All is loading comments...