Rev. Harjeet Nishad
Rev. Harjeet Nishad

 

Name : Rev. Harjeet Nishad Ji

 

City : Sant Nirankari Colony, Delhi

 

 

Geetkar : Rev. Harjeet Nishad Ji

सेवा कर  ले  सत्संग  कर  ले (भक्ति गीत)
गीतकार : हरजीत निषाद, दिल्ली

सेवा कर  ले  सत्संग  कर  ले , मन  प्यार  से   भर    ले  गागरिया
जीने  का  ढंग, भक्ति  का  रंग, देता है ये सतगुरु सांवरिया

रहता तो है ये परदे में मगर, गुरु रीझे तो मिल जाता है,
मुरझाया हुआ मन का कमल, इसे पाकर पल में खिल जाता है.
सेवा कर ले सत्संग कर ले......................

अभिमान जहाँ, न रहता वहां, भोले भालों के साथ रहे
जो दीन है ये तो उनका है, सब इसको दीना नाथ कहें.
सेवा कर ले सत्संग कर ले..........

रहमत की नज़र नारी नर पर, पड़ जाएँ बहारें आ जाएँ
सूखी डाली पर हरियाली, ये जग का माली ले कर आये
सेवा कर ले सत्संग कर ले..........

'हरजीत' है ये ऋतु रहमत की, आ जाओ दयालु है आया,
इसके चरणों पर सर रख दो, सारी खुशियाँ देने आया.
सेवा कर ले सत्संग कर ले..........

तर्ज़ : एक राम के दो दो रूप मिले, एक राम गुरु एक रामईया


Rev. Saints,

You can record this song (bhakti geet) in your voice and send .mp3 or .wma file at gs.sehaj@gmail.com and we will try to upload it on this page.

 

Team : www.gurdeepsingh.jimdo.com


कृपया इस लेख के बारे में अपने विचार नीचे दिए गए फार्म के माध्यम से सांझा करें.

आपके विचार :

God Bless All is loading comments...